शनिवार, 7 अगस्त 2021

अपर सचिव ने की शिक्षको और स्कूलों की मिल रही शिकायत पर दिया ये कड़ा निर्देश।देखिए ये रिपोर्ट


राज्य में माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्कूलों का नियमित इन्सपेक्सन  होगा। गायब पाये जाने वाले शिक्षकों पर कारवाई होगी। शिक्षा विभाग के अपर मुख्यसचिव संजय कुमार के निर्देश पर माध्यमिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार ने जिला शिक्षा पदाधिकारियों को माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों के नियमित इन्सपेक्सन का आदेश देते हुए कहा है कि विद्यालयवार रिपोर्ट हर दिन अपराह्न चार बजे तक की गयी काररवाई के साथ क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक को उपलब्ध करायें। 

इसके लिए फॉर्मेट भी जारी किये गये हैं। दरअसल, इसके पहले शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों को यह निदेशित करने को कहा कि सभी उच्च माध्यमिक विद्यालयों का नियमित रूप से अनुश्रवण करें एवं करायें। प्रतिदिन उपस्थिति की विवरणी समेकित कर निदेशालय को उपलब्ध करायें। साथ ही, अनुपस्थित शिक्षकों के विरुद्ध की जाने वाली काररवाई से भी दैनिक रूप से माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को अवगत करायें। अपने इस निर्देश को अपर मुख्यसचिव ने अत्यंत महत्वपूर्ण बताते हुए कहा है कि इसका नियमित अनुश्रवण माध्यमिक  शिक्षा निदेशालय द्वारा किया जाना अपेक्षीत है।

निर्देश में अपर मुख्य सचिव ने कहा कि 12 जुलाई से सभी उच्च माध्यमिक विद्यालयों के 11वीं एवं 12वीं कक्षाओं को प्रतिदिन 50 प्रतिशत उपस्थिति के आधार पर खोला गया है।9वीं एवं 10वीं कक्षा सात अगस्त के प्रभाव से खोला जा रहा है । 1ली से 8वीं कक्षा 16 अगस्त से खोला जायेगा। अपर मुख्यसचिव ने कहा है कि कुछ जिलों के जिलाधिकारियों द्वारा संज्ञान में लाया गया है कि 11वीं एवं 12वीं कक्षाओं के विद्यालयों का खुलना लगभग नगण्य है। छात्र एवं छात्राओं की अनुपस्थिति चिंताजनक है, परंतु उससे भी ज्यादा चिंताजनक अधिकांश उच्च विद्यालयों के शिक्षकों का नियमित रूप से विद्यालय में उपस्थित नहीं होना है।


0 टिप्पणियाँ: