शुक्रवार, 27 अगस्त 2021

प्रधानध्यापक पर एफआईआर।शिक्षक बर्खास्त।देखिए ये रिपोर्ट



जिला परिषद कार्यालय रोहतास के कथित निर्गत आदेश पत्र पर फर्जी हस्ताक्षर कर नियोजित शिक्षक बन कर पढ़ाने  वाले चार माध्यमिक शिक्षकों के विरुद्ध जिला परिषद के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी सह उप विकास आयुक्त सुरेंद्र प्रसाद ने स्थापना के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज कर सूचित करने का आदेश निर्गत किया है। जिनमें उत्क्रमित उच्च विद्यालय खनेठी करगहर में नियोजित राकेश कुमार 
रौशन, उत्क्रमित उच्च विद्यालय  सरैया तिलौथू में नियोजित उपेंद्र कुमार एवं सुषमा कुमारी तथा उत्क्रमित उच्च विद्यालय चंदनपुरा तिलौथू में नियोजित राकेश दुबे शामिल हैं। 


आपको बता दे कि जिला परिषद द्वारा जारी आदेश पत्र की जांच के बाद यह पाया गया कि  यह आदेश जिला परिषद कार्यालय द्वारा जारी नहीं किया गया है तथा संबंधित ज्ञापन पर अधोहस्ताक्षरी का फर्जी हस्ताक्षर किया गया है। जिसके आलोक में डीडीसी ने जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को उपरोक्त सभी शिक्षकों एवं योगदान स्वीकृत करने वाले प्रधानाध्यापक के विरुद्ध तत्काल प्राथमिकी दर्ज कर सूचित करने का आदेश निर्गत किया है। साथ ही जिला परिषद क्षेत्र अंतर्गत आने वाले सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यापक, प्रभारी प्रधानाध्यापक  सहित शिक्षा विभाग के पदाधिकारी एवं कर्मचारियों को निर्देशित किया है कि ऐसे किसी भी मामले के संज्ञान में आने पर तत्काल जिला परिषद नियोजन इकाई को सूचित करें। जिससे दोषी व्यक्तियों पर नियमानुसार कार्रवाई सुनिश्चित की जा सके। इसके अलावा एक अन्य मामले में जिला शिक्षा पदाधिकारी के अनुरोध एवं विभागीय जांच के उपरांत श्री सीताराम उच्च विद्यालय बरांव कला डिहरी में नियोजित उच्चतर माध्यमिक शिक्षक प्रमोद कुमार पांडे को फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर तत्काल सेवा से बर्खास्त करने एवं सभी तरह के लंबित वेतन के भुगतान पर रोक सहित सेवा अवधि के दौरान लिए गए वेतन वापसी की कार्रवाई सुनिश्चित करने का भी आदेश जिल्ला परिषद ने जारी किया है।


0 टिप्पणियाँ: