रविवार, 11 जुलाई 2021

शिक्षा विभाग का शिक्षको के लिए एक्सन प्लान।सबको मिला निर्देश।देखिए ये रिपोर्ट


 

राज्य में आठ हजार मिडिल स्कूलों में पोषण वाटिका तैयार है । बाकी बचे मिडिल स्कूलों में भी पोषण के वाटिका विकसित की जा रही है। आजादी का अमृत महोत्सव स्कूलों में पोषण वाटिका के माध्यम से ही मनाने में की तैयारी है।

Vकेंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय के स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने राज्यों से कहा है कि आजादी का 75वां  साल पूरा होने के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव स्कूलों में पोषण वाटिका के माध्यम से मनाया जाय।इसके अनुपालन में मध्याह्न भोजन योजना के निदेशक सतीश की चन्द्र झा द्वारा सभी जिलों के जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (मध्याह्न भोजन योजना) को निर्देश दिये गये हैं। निर्देश में कहा गया है कि पोषण वाटिका के माध्यम से बच्चों में प्राकृतक वातावरण, बागवानी एवं खेती के क्रियाकलापों की क्षमता को विषयों के माध्यम से जागृत की जा सकती है। 

Vमध्याह्न भोजन योजना कार्यक्रम अंतर्गत विद्यालय में पोषण वाटिका का निर्माण कर उससे उत्पादित फल एवं सब्जियों को मध्याह्न भोजन में शामिल कर आवश्यक विटामिन, मिनिरल की प्रतिपूर्ति के साथ ही शारीरिक एवं मानसिक विकास संभव हो सकेगा। विद्यालयों में पोषण वाटिका के निर्माण से स्वच्छ, ताजा फल एवं सब्जियों का मध्याह्न भोजन में उपयोग, वातावरण में हानिकारक इस दुष्प्रभाव से बचाव संभव हो सकेगा।

जिला शिक्षा पदाधिकारियों को दिये गये निर्देश के मुताबिक आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए त्वरित विद्यालय शिक्षा समिति की बैठक कोविड-19 के प्रोटोकॉल के तहत सामाजिक दूरी का पालन करते हुए कि आयोजित की जानी है। इसके लिए बिहार शिक्षा परियोजना है परिषद से समन्वय स्थापित किया जाना है, जिसमें विद्यालयों में पोषण वाटिका विकसित किये जाने हेतु एक्सन प्लान तैयार किया जाना है।विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों को ऑनलाइन क्लास के माध्यम से पोषण वाटिका के महत्व की जानकारी प्रदान की जानी है।आजादी का अमृत महोत्सव के माध्यम से बच्चों को घर में भी किसी गमले, बर्तन एवं खाली जगह में बागवानी किये जाने हेतु प्रेरित किया जाना है। बच्चों द्वारा घर में विकसित किये गये बागवानी में लगाये गये पौधों के साथ फोटो विद्यालय शिक्षक के साथ साझा किया जाना है। 

शिक्षकों द्वारा छात्रों से प्राप्त फोटो में से उत्कृष्ट फोटो का चयन कर वेबसाइट पर डाला जाना है। चयनित फोटो को पुरस्कृत किया जाना है। कार्यक्रम के संचालन के लिए स्कूलों में  Vनोडल शिक्षक नामित होंगे, जो विद्यालय पोषण वाटिका से जुड़ी गतिविधियों यथा बीज-बीजारोपण, खास इत्यादि की व्यवस्था, कृषि विज्ञान केंद्र से समन्वय स्थापित कर विद्यालय में उपलब्ध करायेंगे। आजादी का अमृत महोत्सव मनाने में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, प्रखंड साधन सेवी,विद्यालय शिक्षा समिति के सचिव-अध्यक्ष व सदस्यों,विद्यालय के रसोइयों एवं छात्रों के अभिभावकों का सहयोग लिया जायेगा। 


V

0 टिप्पणियाँ: