सोमवार, 20 अप्रैल 2020

लगातार हो रही शिक्षको की मौत पर उठने लगी ये मांग।। पढ़िए एक रिपोर्ट







लगातार हो रही शिक्षको के मौत पर आनंद कौशल ने कहा मुख्यमंत्री के  अहंकारी स्वभाव के कारण ही हड़ताल के इन 63 दिनों के अंदर 55 नियोजित शिक्षकों की मौत हो चुकी है ।



कौशल जी ने कहा कि 04 लाख हड़ताली शिक्षकों के साथ दाँव-पेंच और राजनीतिक चोंचलेबाजी बंद कर शीघ्र वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से वार्ता कर सभी माँगों को पूरी करें । 



आनंद कौशल ने मुख्यमंत्री से तत्काल मानवता का परिचय देते हुए वार्ता के प्रत्याशा में सभी मृत शिक्षकों के परिजनों को 25 लाख रुपया और  सरकारी नौकरी देने की मांग की है ।

उन्होनें मांग किया कि इस लॉक डाउन में आर्थिक तंगी से लगातार हो रही शिक्षकों की मौत को तुरंत रोकने के लिए केंद्र सरकार के आदेश का अनुपालन करते हुए 04 लाख शिक्षकों को फरवरी, मार्च,अप्रैल माह के बकाया वेतन का भुगतान किया जाय और लॉक डाउन अबधि का वेतन रोक कर शिक्षकों को मौत के मुँह में धकेलने वाले पदाधिकारी पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाय ।


कौशल जी ने कहा कि अगर सरकार इस पर अमल नहीं करती है तो  लॉक डाउन खत्म होते ही 04 लाख हड़ताली शिक्षक 05 मई को पटना में राजभवन तक आक्रोश मार्च निकाल कर सरकार की नींद उड़ा देंगें 


0 टिप्पणियाँ: