शनिवार, 18 मई 2019

शिक्षको के इस कार्य से विभाग को लगा झटका।देखिए एक रिपोर्ट


पश्चिम चंपारण


रामनगर के नियोजित शिक्षको ने मतदान केन्द्र स्तरीय पदाधिकारी के पद को सामूहिक रूप से त्याग दिया है। प्रखंड के 90 मतदान केन्द्रो पर तैनात बीएलओ ने सामूहिक रूप से बीएलओ का पद छोडने संबंधी आवेदन अंचलाधिकारी सह प्रभारी प्रखंड विकास पदाधिकारी विनोद कुमार मिश्र को सौंपा।



बीडीओ को सौंपे अपने आवेदन में शिक्षको ने कहा है कि शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्य में नही लगाया जा सकता है। लेकिन इसके बाद भी हमलोगो ने इसका विरोध नहीं किया और निष्ठापूर्वक इस कार्य को करते रहे।



लेकिन समान काम समान वेतन मामले में सर्वोच्च न्यायालय में नियोजित शिक्षको के विरूद्ध आये फैसले ने शिक्षको को निराश कर दिया है। वही केन्द्र व राज्य सरकार का रवैया भी शिक्षको के हक में नही है।



इस कारण हमलोगो ने इस पद को छोड़ने का फैसला किया है। नियोजित शिक्षको ने शैक्षणिक कार्यों के अतिरिक्त अन्य कार्यों से अपने को अलग रखने संबंधी लिये गये निर्णय से भी प्रभारी बीडीओ को अवगत कराया। सीओ सह प्रभारी बीडीओ श्री मिश्र ने कहा कि शिक्षको के आवेदन को अग्रेतर कार्रवाई के लिये जिला को भेज दिया जायेगा।



आवेदन सौंपने वालों में राजकेश्वर राम, राजन चौधरी, जितेन्द्र राम, नवेन्दु कुमार मिश्र, राजेश कुमार, विजय कुमार शुकला, प्रदीप कुमार, विजय कुमार पाल, अमित अनुराग, आयुष सिंह, बुनीलालप्रसाद, विजय कुमार, सुधीर कुमार आदि थे।


0 टिप्पणियाँ: