मंगलवार, 19 फ़रवरी 2019

पुलिश लाठियां चलती रही और शिक्षक डटे रहे। देखिए एक रिपोर्ट


पटना


बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदर्शनकारी सोमवार को ठीक 12 बजे अपने बकाया वेतन की मुख्य मांग सहित 42 सूत्री मांग पत्र को लेकर विधानसभा भवन की तरफ रवाना हुए थाने के पास विधानसभा के बाहरी गेट तक वे पहुंचेमांगों के समर्थन में जबरदस्त नारेबाजी की. प्रदर्शन शुरू कियागेट खोलने का प्रयास किया।



पुलिस ने आननफानन में आधा दर्जन वाटर कैनन से प्रदर्शनकारियों पर पानी की बौछार की, करीब आधे घंटे चली।



जोर आजमाइश के बाद पुलिस ने अंत में बेकाबू होते प्रदर्शन को काबू में करने के लिए प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कियाहालांकि वे पूरे दिन सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे. प्रदर्शनकारियों की संख्या अच्छी खासी रही।



प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल
सिंह ने कियाउन्होंने कहा कि शिक्षकों को सात माह से वेतन नहीं मिला है।

दूसरी तमाम मांगें हैं, जिन्हें पूरा किया जाना चाहिए था. सरकारी तंत्र निरंकुश रवैया अपना रहा है. धरना स्थल पर शिक्षक संघ की हुई मीटिंग के बाद सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि संघ के कार्यकर्ता आगामी लोकसभा चुनाव में
नोटा के अधिकार का उपयोग करेंगे। संघ इसके जरिये विरोध प्रदर्शित करेगा।


0 टिप्पणियाँ: