शनिवार, 16 फ़रवरी 2019

शिक्षक बहाली में फसे बिहार के नेताजी। देखिए एक रिपोर्ट




पटना केदार नाथ पांडेय द्वारा कम्प्यूटर शिक्षक की बहाली मामले में शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा घिर गये।

वे बार बार कोर्ट की दुहाई दे रहे थे। श्री पांडेय ने अपने सवाल में कहा कि राज्य के माध्यमिक व उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में नामांकन पंजीयन आदि सारे कार्य ऑनलाइन करने का प्रावधान है। आज के दौर में स्कूलों में कंप्यूटर नहीं लगाया गया है और न ही कंप्यूटर शिक्षकों की नियुक्ति की गयी है । 




संविदा पर कार्यरत शिक्षक बीते 500 दिनों से आंदोलनरत है। एक तरफ पूरा देश डिजिटल की ओर बढ़ रहा है दूसरी ओर तकनीकी शिक्षा प्रणाली पूरी तरह ध्वस्त हो गयी है। 



अपने जबाब में शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि सूबे के स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षकों की नियुक्ति संविदा के माध्यम से की गयी थी। जिस कंपनी से पांच साल के लिए करार किया गया था। 




उनका पांच साल 2017 में ही समाप्त हो गया है । समान काम समान वेतन मामला में सुप्रीम कोर्ट में सुनवायी पूरी होने के बाद कंप्यूटर शिक्षकों को बहाल किया जायेगा। इस पर श्री पांडेय ने कहा कि छात्र साइबर कैफे से फार्म संबंधित कार्य कर रहे है जिसमें उन्हें पैसा भी खर्च हो रहा है तथा परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है।




0 टिप्पणियाँ: