शुक्रवार, 9 नवंबर 2018

सितंबर के वेतन में देरी होने पर शिक्षको का फूटा गुस्सा।विभाग की बढ़ी परेशानी



भागलपुर(08 नवम्बर)


बिहार के भागलपुरमें बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ (मूल) भागलपुर के बैनर तले जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय में संघ के प्रदेश अध्यक्ष पूरण कुमार के नेतृत्व में नियोजित शिक्षकों के सितंबर माह का वेतन दिवाली जैसे पर्व में भी नहीं मिलने के कारण जिले के सैकड़ों शिक्षकों ने आक्रोशित होकर पदाधिकारियों एवं लिपिकों के विरुद्ध में जमकर नारेबाजी की और उनके कार्यालय मेतालाबंदी कर दी। 



संघ के प्रदेश अध्यक्ष पूरण कुमार के कहने पर जिला कार्यालय पदाधिकारी (स्थापना) जनार्दन विश्वास कार्यालय पहुंचे और जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (समग्र शिक्षा अभियान) स्थापना को मिली राशि को संशोधित करने का पत्र निर्गत करवाया ।



दुर्भाग्यवश जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (समग्र शिक्षा) के पुत्र के साथ दुर्घटना होने के कारण वे कार्यालय से बाहर निकल गए थे।

इधर जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा कि डीपीओ एसएसए संशोधित पत्र जारी कर शीघ्र कार्यालय को उपलब्ध कराएगा ताकि नियोजित शिक्षकों को सितंबर का वेतन भुगतान छठ पर्व से पहले हो सके। 

संघ के प्रदेश अध्यक्ष पूरन कुमार ने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि नियोजित शिक्षकों का जन्म ही संघर्ष के लिए हुआ है। 



दुर्भाग्य है कि जहां एक ओर सरकार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की बात करती है वहीं दूसरी ओर शिक्षकों को वेतन के लिए सड़क पर आंदोलन करना पड़ता है। शीघ्र ही हम शिक्षकों को संघर्ष का फल माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा 'समान काम समान वेतन" के रूप में मिलने की पूरी संभावना है। 



तब सरकार को नियोजित शिक्षकों द्वारा करारा जवाब दिया जाएगा। इस मौके पर निर्भय कुमार झा, नवल किशोर मंडल रामचंद्र शाह, विनय कुमार विमल ,रंजीत रजक ,जयनाथ यादव ,अरुण कुमार सुधांशु, विभाष कुमार, आदि सैकड़ों शिक्षक उपस्थित थे।


0 टिप्पणियाँ: