बुधवार, 28 नवंबर 2018

शिक्षक बनने के लिए डीएलएड या बीएड करने की जरूरत नहीं।




नईदिल्ली



सरकारी स्कूल में अध्यापक बनना चाहते हैं तो अब आपको बीएड या डीएलएड जैसे कोर्स करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।


राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने दो नए कोर्स लॉन्च किए हैं। इंटीग्रेटड टीचर एजुकेशन प्रोगाम(आईटीईपी) को चार साल का होगा। एनसीटीई ने एक नोटिफिकेशन जारी
कर सत्र 2019-23 के लिए आईटीईपी कोर्स संचालित करने के इच्छुक शिक्षण संस्थानों से ऑनलाइन आवेदन मंगाए हैं।






संस्थान 3 दिसंबर से लेकर 31 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं। अभी तक प्री प्राइमरी से प्राइमरी स्तर तक की कक्षाओं में पढ़ाने के लिए डीएलएड जरूरी था। वहीं अपर प्राइमरी से सेकेंडरी स्तर तक के स्कूलों में अध्यापन कार्य के लिए बीएड करना अनिवार्य था।





लेकिन अब एनसीटीई चार वर्षीय इंटिग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम शुरू करने जा रहा है। अगर कैंडिडेट ने चार साल का इंटीग्रेटेड टीचर एजूकेशन प्रोग्राम पूरा कर लिया है तो उसके लिए टीईटी,एसटीईटी या स्टेट लेवल के अन्य टेस्ट क्लियर करके टीचर बनने का रास्ता साफ हो जाएगा। 




0 टिप्पणियाँ: