शुक्रवार, 26 अक्तूबर 2018

शिक्षको की मदद के लिए शिक्षक संगठन ने उठाया ये कदम।




सीवान के गांधी मैदान में गुरुवार की शाम टीईटी/एसटीइटी संघ के बैनर तले बैठक कर शिक्षक सहायता कोष की औपचारिक शुरुआत की गयी। 


बैठक की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष रजनीश मिश्र ने की। बैठक में शिक्षकों के हितों से संबंधित विषयों पर चर्चा की गई।।


आम सहमति से पूर्व से प्रस्तावित शिक्षक सहायता कोष की औपचारिक घोषणा की गईं। हालांकि इस कोष धोषणा 2 अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर ही कर दी गयी थी।


रजनीश मिश्रा ने बताया कि प्रायः समाचार पत्रों के माध्यम से यह सूचना मिलती रही है कि पैसे के अभाव में शिक्षक ने बिना इलाज के दम तोड़ दिया। 

सीवान जिले में शिक्षकों के साथ ऐसी स्थिति ना हो। यह सोचते हुए इस कोष की स्थापना। का विचार आया जिसमें शिक्षकों की राय मांगी गईं।

शिक्षक सहायता कोष सीवान के आवश्यक कार्य योजना, रूपरेखा एवं इसके क्रियान्वयन और सफल संचालन के लिए शिक्षको से इस पर विचार विमर्श हआ।

सभी शिक्षको ने इस मामले में एक स्वर से समर्थन किया तथा आपेक्षिक सहयोग। की बात कही। सबके समर्थन से इस कोष की घोषणा गांधी जयंती को ही कर दी गयी थी। 

आज सभी प्रखंडों के शिक्षकों के साथ बैठक कर सर्व सम्मति से इसकी औपचारिक शुरुआत की गईं है।


आपको बता दे कि यह कोष शिक्षकों को गंभीर बीमारियों में उनकी आर्थिक मदद करने के लिए बनाया गया है।

मिश्रा जी ने बताया कि गठित कोष का सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहा है तथा इस शिक्षक सहायता कोष से प्रेरित हो कर अन्य जिलों के शिक्षक साथियों ने भी इस तरह के कोष की स्थापना की शुरूआत कर दी है। 


बैठक में जिलाध्यक्ष रजनीश मिश्ररविकांत उपाध्याय, अभय कुमार, उमेश कमार, सुधीर सिंहमुहम्मद तैयब आदि पचासों शिक्षक मेौजूद थे।




0 टिप्पणियाँ: