बुधवार, 17 अक्तूबर 2018

शिक्षको का सितंबर माह का भुगतान नहीं होगा।






वित्त विभाग बिहार गजट के असाधारण अंक में प्रकाशित अधिसूचना संख्या-LG/01/10/2011दिनांक 25.05.2011 के अनुसूची की धारा 4 के कडिकानुसार प्रतिवर्ष आय पर निम्नरूप से पेशाकर की कटौती की जानी है।


आपको बता दे कि जिनकी प्रतिवर्ष आय 03 लाख से 05 लाख तक है उन्हें पेशाकर कटौती के रूप में  1000 देना होगा।



जिनकी प्रतिवर्ष आय 05 लाख से 10 लाख तक -पेशाकर कटौती के रूप में 2000 रू0 देना होगा।

जिनकी प्रतिवर्ष आय 10 लाख से अधिक पर होगा उन्हें पेशाकर कटौती के रूप में 2500 देना होगा।

विभाग ने निर्देश दिया है की आय सीमा के अंतर्गत आने वाले जिले के विभिन्न नियोजन इकाईयों में नियोजित शिक्षको द्वारा पेशाकर का भुगतान किया जाना अनिवार्य है।




इसलिये प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि अपने-अपने प्रखण्द्रों में कार्यरत नियोजित शिक्षकों का पेशाकर भुगतान करवाना सुनिश्चित करें।

सभी प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी भुगतान किये गये पेशाकर की कोषागार चालान की प्रति अधोहस्ताक्षरी कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करे ताकि माह सितंबर 2018 के वेतनादि का भुगतान किया जा सके। अन्यथा कि स्थिति में सारी जवाबदेही प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी की होगी।



अपको बता दे कि जब तक पेशाकर का भुगतान शिक्षको के द्वारा नहीं कर दिया जाता तब तक सितंबर माह का भुगतान नहीं हो पायेगा।

विभाग का पत्र डाउनलोड करने के लिए ऊपर के बटन पर क्लिक करें।




0 टिप्पणियाँ: