गुरुवार, 11 अक्तूबर 2018

सुप्रीमकोर्ट का फैसला सरकार मानने को तैयार।



सासाराम में  शिक्षामंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि वे चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट में नियोजित शिक्षकों के पक्ष में फैसला हो।

उन्होंने कहा कि ईश्वर आज से मेरी प्रार्थना है कि नियोजित शिक्षकों की जीत हो। सुप्रीम कोर्ट का  फैसला मानने के लिए सरकार तैयार है। 

आपको बता के शिक्षा मंत्री ने ये बात बुधवार को वे सासाराम के कुशवाहा सभा भवन में मौर्यवंशीय शिक्षक समूह को संबोधित करने के दौरान कही।

हलांकि उन्होंने बाद में पूछने पर ऐसा बयान देने से इनकार किया। उन्होंने कहा कि जो कोर्ट का फैसला आयेगा उसी को माना जाएगा। 



शिक्षा मंत्री ने कहा कि यह तय है की वेतन की राशि कोर्ट से बढ़े या फिर उनलोगों के साथ मिल बैठ कर बातचीत करके बढ़े लेकिन वेतन की राशि बढ़ना तय है। 

सरकार न्यायालय के फैसले का इंतजार कर रही है। सार्वजनिक मंच पर शिक्षकों की मौजूदगी मे शिक्षा मंत्री के इस बयान से शिक्षक समूह खुश होकर तालियां बजाने लगे। 


तालियों की गड़गड़ाहट से शिक्षा मंत्री के चेहरे पर भी मुस्कान आ गयी। राज्य के 3.56 लाख नियोजित शिक्षकों को समान काम के बदले समान वेतन मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चकी है।




0 टिप्पणियाँ: