गुरुवार, 30 अगस्त 2018

स्कूलो की निरीक्षण प्रक्रिया पर माध्यमिक शिक्षक संघ ने जताया एतराज।




बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने शिक्षा विभाग द्वारा विद्यालयों किये जा रहे निरीक्षण की प्रक्रिया पर कड़ा एतराज जताया है।
संगठन के अध्यक्ष व विधान पार्षद केदारनाथ पांडेय एवं महासचिव व सांसद शत्रुधन प्रसाद सिंह ने कहा है कि निरीक्षण का कार्य तो स्वागत योग्य है लेकिन विद्यालयों के निरीक्षण का उद्देश्य गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को प्रोत्साहित करना होना चाहिए

लेकिन पदाधिकारी केवल शिक्षकों की उपस्थिति और साइकिल-पोशाक योजना की समीक्षा को ही निरीक्षण का उद्देश्य मान बैठे हैं।

यदि कोई विद्यालय बेहतर कर रहा है तो उसके लिए पुरस्कार की भी व्यवस्था होनी चाहिए ।

सरकार शिक्षकों को समान काम के लिए समान वेतन देने के उच्च न्यायालय के न्याय निर्णय के विरोध में सर्वोच्च न्यायालय में मुकदमा कर अनाप-शनाप व्यय कर रही है। आठ माह से उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को वेतन का भुगतान नहीं हुआ है।

जिससे वे आर्थिक रूप से इतने परेशान हैं कि बीमार माता-पिताबेटा-बीटी का इलाज नहीं करा पार रहे हैं, किंतु यह सरकारी की चिंता में शामिल नहीं हैं।

0 टिप्पणियाँ: