रविवार, 12 अगस्त 2018

टीईटी पास करने पर ही शिक्षा मित्रों को मिलेगा बेतनमान




उत्तराखंड राज्य में सहायक अध्यापक के पद पर स्थाई नौकरी की मांग कर रहे शिक्षा मित्रों को सरकार की ओर से एक बड़ा झटका दिया गया है।

सरकार ने साफ कह दिया है कि बिना टीईटी पास किए किसी भी शिक्षामित्र को स्थाई नहीं किया जाएगा। इस फैसले के बाद शिक्षा विभाग ने भी अपने हाथ खड़े कर दिए हैं।

शिक्षा निदेशक आर के कुंवर का भी कहना है कि वर्तमान में बेसिक शिक्षक के लिए अन्य शैक्षिक योग्यता के साथ टीईटी होना भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि पहले जो भी शिक्षामित्र स्थाई किए गए हैं उन्हें कोर्ट के आदेश पर सशर्त ऐसा किया गया है।



आपको बता दे कि राज्य के विभिन्न स्कूलों में अपनी सेवाएं दे रहे शिक्षामित्र काफी समय से सहायक शिक्षकों के पदों पर स्थाई किए जाने की मांग कर रहे हैं।


अब सरकार ने साफ कर दिया है कि बिना टीईटी पास किए शिक्षामित्रों को स्थाई नहीं किया जाएगा। सरकार के इस रवैये पर उत्तराखंड बेरोजगार संघ ने प्रदेश सरकार पर उपेक्षा का आरोप लगाया है।

बेरोजगार संघ ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर 20 दिनों के अंदर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो पूरे प्रदेश में आंदोलन किया जाएगा।

गौर करने वाली बात है कि स्थाई करने की मांग को लेकर कई दिनों से शिक्षा निदेशालय पर प्रदर्शन कर रह शिक्षकों का कहना है कि राज्य में 900 शिक्षा मित्र ऐसे भी हैं जो 15 हजार रुपये मासिक मानदेय पर काम कर रहे हैं।


इन्होंने इग्नू के जरिए डीएलएड कर लिया है लेकिन टीईटी नहीं कर पाए हैं। संघ ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि डीएलएड कर चुके शिक्षा मित्रों के पहले बैच को स्थाई किया जा चुका है लेकिन बाकी के 900 शिक्षामित्रों को स्थाई करने में आनाकानी की जा रही है।

0 टिप्पणियाँ: